Monday, June 24, 2024
Homeलोक कला-संस्कृतिगौरान्वित पल…।पौड़ी गढ़वाल के प्रमुख दंपति को मिला राष्ट्रीय ग्राम्य सशक्तिकरण...

गौरान्वित पल…।पौड़ी गढ़वाल के प्रमुख दंपति को मिला राष्ट्रीय ग्राम्य सशक्तिकरण पुरूस्कार 2023 ।

* जनपद पौड़ी गढ़वाल के प्रमुख दम्पति को मिला राष्ट्रीय ग्राम्य सशक्तिकरण पुरूस्कार 2023। 

* भारत वर्ष के पहले ऐसे प्रमुख दंपति जिन्होने यह गौरव हासिल किया। 

* कभी विकास व योजनाओं के नाम पर बेहद पिछड़े माने जाते थे ये दोनों ही विकास खंड।

पौड़ी गढ़वाल (हि. डिस्कवर)

खबर ऐसी कि ना पक्ष वाले और न विपक्ष वाले इस सब पर प्रश्न उठा सकते हैं क्योंकि प्रमुख द्वारीखाल महेंद्र सिंह राणा कांग्रेसी पृष्ठभूमि रहे हैं व उनकी पत्नी प्रमुख कल्जीखाल  श्रीमति वीना राणा भारतीय जनता पार्टी से सम्बन्धित हैं। प्रश्न उठाने का सवाल इसलिए भी पैदा नहीं होता है क्योंकि जिसने भी इन दोनों विकास खंड के विकास भवन या सभागार देखे होंगे वे स्वयं ही अचंभित हो उठते हैं। सिर्फ़ ब्लॉक स्थित विकास भवन ही नहीं अपितु इन दो विकास खंडों में संचालित की जाने वाली योजनाएँ भी आपको प्रसन्नचित्त कर देंगी। 

विगत दिवस “राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस” के अवसर पर आत्मनिर्भर भारत राष्ट्रीय ग्राम्य सशक्तिकरण पुरूस्कार-2023 कार्यक्रम में उत्तराखण्ड सरकार के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने पेसिफिक होटल देहरादून के कार्यक्रम में पौड़ी जिले के राणा दम्पति प्रमुख कल्जीखाल बीना राणा एवं प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र सिंह राणा को विकास कार्यो में अग्रणी रहने पर राष्ट्रीय ग्राम्य सशक्तिकरण पुरूस्कार से सम्मनित किया गया। दम्पति राणा को अपने अपने विकासखण्ड कल्जीखाल एवं द्वारीखाल में विकास कार्यो में खरा उतरने पर यह पुरूस्कार दिया गया। यह पुरूस्कार उत्तराखण्ड राज्य में केवल राणा दम्पति को मिला है। सम्मान समारोह में आयोजित कार्यक्रम में प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र राणा ,प्रमुख बीना राणा को उत्तराखण्ड सरकार के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

प्रमुख कल्जीखाल बीना राणा ने अपने सम्बोधन में कहा कि यह पुरूस्कार सम्मान हमारे लिए गौरव की बात है,मेरी शुरू से ही विकास कार्यो की प्रति रूचि रही है। जिसका प्रतिफल आज देखने को मिल रहा है। कार्यक्रम का आयोजन सैंगुन वी केयर वैलफेयर सोशाइटी एवं उत्तराखण्ड हैरिटेज मीडिया द्वारा किया गया।

विकास खण्ड कल्जीखाल ब्लॉक प्रमुख श्रीमती बीना राणा की उपलब्धि । 

१-  विगत 24 अप्रैल 2013 को विकासखण्ड कल्जीखाल को राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित किया गया।
२- 24 अप्रैल 2017 को दूसरी बार विकासखण्ड कल्जीखाल को राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित किया गया।
३- वर्ष 2019 में विकासखण्ड कल्जीखाल में निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित।
४-  वर्ष 2019 में विकासखण्ड कल्जीखाल में निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित तथा पति श्री महेन्द्र सिंह राणा द्वारीखाल से निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित।
५- भारतवर्ष में ऐसे पति पत्नी जो पहली बार निर्विरोध रूप से ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित हुए है।
६- विकासखण्ड कल्जीखाल में ऐतिहासिक भवन सभी साज सज्जाओं एवं आधुनिक सुविधा से युक्त विकासखण्ड भवन का निर्माण। ऐसा भवन विकासखण्ड द्वारीखाल के अलावा पूरे भारतवर्ष में नही है।
७-  विकास खण्ड में 350 छात्र छात्राओं को गोद लेकर उनकी शिक्षा दीक्षा का पूरा खर्च वहन किया।
८-  विकास खण्ड में आम जनमानस की सुविधा के लिए विकासखण्ड के अन्तर्गत बैठने के लिए 350 बैंचे लगाये गये।
९- विकासखण्ड में हरैला कार्यक्रम के अन्तर्गत 21000 फलदार पौधो का रोपण किया।
१०- विकासखण्ड के ग्राम पंचायतो में बच्चों के मनोरंजन हेतु पार्को का निर्माण किया।
११- विकासखण्ड के अन्तर्गत विभिन्न स्थानों पर लोगो की सुविधा हेतु यात्री शेड़ो का निर्माण।
१२-  विकासखण्ड कल्जीखाल मुख्यालय में अतिथि गृह का निर्माण।
१३- आजीविका मिशन के अन्तर्गत 348 समूहो का गठन किया गया है जिसमें एन0आर0एल0एम0 के माध्यम से महिलाओं को समूह के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराया गया एवं सामाग्री को रखने के लिए विपणन केन्द्र बनाये गये है।
१४-  विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में रैलिंग निर्माण का कार्य कराया गया।
१५-  विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में लाभार्थियों को आजीविका वर्धन हेतु मत्सय पालन,कुकुट पालन,पशु पालन, बकरी पालन आदि के लिए अनुदान दिया गया।
१६- विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में लाभार्थियों को आजीविका वर्धन हेतु पशु पालन शेड़,बकरी पालन शेड़, मुर्गी बाड़ा आदि के लिए अनुदान दिया गया।
१७-  विकासखण्ड के अन्तर्गत समस्त ग्राम पंचायतों को स्वच्छता कार्यक्रम के अन्तर्गत जैविक अजैविक कुडे़दान वितरित किये गए।
१८- विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में जल सम्वर्धन हेतु खाल चाल,खन्ती निर्माण,पेयजल टैंको का निर्माण कराया गया।
महेंद्र सिंह राणा ब्लॉक प्रमुख विकास खण्ड द्वारीखाल की उपलब्धि
1. 24 अप्रैल 2013 को विकासखण्ड कल्जीखाल में महेंद्र सिंह राणा को राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित किया गया।
2. 24 अप्रैल 2017 को दूसरी बार विकासखण्ड कल्जीखाल में महेंद्र सिंह राणा को राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित किया गया।
3. 24 अप्रैल 2021 को ब्लॉक प्रमुख द्वारीखाल महेंद्र सिंह राणा को तीसरी बार राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित किया गया।
4. तीन बार राष्ट्रीय पुरूस्कार से सम्मानित होने वाले भारतवर्ष में प्रथम ब्लॉक प्रमुख है।
5. वर्ष 2019 में विकासखण्ड द्वारीखाल में निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित तथा धर्मपत्नी श्रीमती बीना राणा कल्जीखाल से निर्विरोध प्रमुख निर्वाचित हुए। हिन्तुस्तान में ऐसे पति पत्नी पहली बार जो निर्विरोध रूप से ब्लॉक प्रमुख है।
6. विकासखण्ड द्वारीखाल के अन्तर्गत ऐतिहासिक डाडामण्डी में बहुउद्देशीय भवन एवं मंच का निर्माण।
7. वर्ष 2021-22 में विकासखण्ड में भव्य सभागार का निर्माण।
8. विकासखण्ड में सभागार का नाम सी0डी0एस0 शहीद विपिन रावत जी के नाम पर रखा गया।
9. वर्ष 2021-22 में विकासखण्ड भवन का पुर्ननिर्माण कार्य। ऐसा भवन विकासखण्ड कल्जीखाल के अलावा पूरे हिन्तुस्तान में नही है।
10. वर्ष 2022-23 में द्वारीखाल से विकासखण्ड मुख्यालय तक हॉट मिक्स मोटर सड़क निर्माण।
11. वर्ष 2021 में 1500 जरूरतमंद छात्र छात्राओं को गोद लेकर उनकी शिक्षा दीक्षा का पूरा खर्च वहन किया।
12. विकासखण्ड में वर्ष 2022-23 में हरैला कार्यक्रम के अन्तर्गत 42000 फलदार पौधो का रोपण किया।
13. विकासखण्ड के अन्तर्गत काण्डाखाल पान की पत्ती में शहीद सूबेदार स्वतंत्र सिंह ग्राम उडियारी की स्मृति में शहीद पार्क का निर्माण किया।
14. विकासखण्ड के अन्तर्गत चैलूसैंण में व्यू प्वांइट का निर्माण।
15. वर्ष 2022-23 में आम जनमानस की सुविधा के लिए विकासखण्ड के अन्तर्गत बैठने के लिए 400 बेंचे लगाये गये।
16. आजीविका मिशन के अन्तर्गत 412 समूहों का गठन किया गया है जिसमें एन0आर0एल0एम0 के माध्यम से महिलाओं को समूह के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराया गया,समूह की महिलाओं द्वारा धूप बत्ती,जैम,आचार,मशरूम,जूस आदि सामग्री का उत्पादन कर अपनी आजीविका बढ़ा रहे है।
17. विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायत में लाभार्थियों को आजीविका वर्धन हेतु मत्स्य पालन,पशु पालन,कुकुट पालन,बकरी पालन आदि के लिए अनुदान दिया गया।
18. विकासखण्ड के अन्तर्गत 96 ग्राम पंचायतों में स्वच्छता कार्यक्रम के अन्तर्गत जैविक अजैविक कूडे़दान वितरित किए गए।
19. विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में जल सम्वर्धन हेतु खन्ती निर्माण,पेयजल टैकों का निर्माण,खाल चाल निर्माण,चारा पत्ती,पौधों का रोपण किया गया।
20. विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में लाभार्थियों को अजीविका वर्धन हेेतु पशुपालन शेड,बकरी बाड़ा,मुर्गी बाड़ा आदि के लिए अनुदान दिया गया।
21. विकासखण्ड के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में पेयजल सुदृढीकरण एवं सौंदर्यीकरण का कार्य किया गया।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES