Thursday, February 29, 2024
HomeUncategorizedज्यादा पानी पीने से हो सकती है यह गंभीर बीमारी, जानें इसके...

ज्यादा पानी पीने से हो सकती है यह गंभीर बीमारी, जानें इसके बारे में सबकुछ

पानी पीना शरीर के लिए बेहद जरूरी है लेकिन हद से ज्यादा पानी पीना नुकसानदायक भी हो सकता है। सबसे हैरानी की बात यह है कि ज्यादा पानी पीना इतना ज्यादा नुकसानदायक हो सकता है कि आपकी जान भी जा सकती है। ज्यादा पानी पीने से वॉटर टॉक्सिसिटी की  बीमारी हो सकती है। इस आर्टिकल में जानेंगे वॉटर टॉक्सिसिटी क्या है? इसके लक्षण क्या होते हैं? साथ ही साथ यह भी जानेंगे कि कैसे इससे बच सकते हैं। वॉटर टॉक्सिसिटी काफी ज्यादा पानी पीने के कारण होता है। इस बीमारी में किडनी में पानी जमा होने लगता है। जिसके कारण ब्लड में सोडियम जमने लगता है। जिसके कारण शरीर को पानी पचाने में दिक्कत होने लगती है। जो आगे जाकर कई परेशानियां खड़ी करती है।

वॉटर टॉक्सिसिटी के शुरुआती लक्षण
वॉटर टॉक्सिसिटी को ऐसे समझे जैसे शरीर को काफी ज्यादा पानी मिल जाता है. जिसके कारण ओवर हाइड्रेशन हो जाता है। ऐसे में क्या होता है कि शरीर एक टाइम के बाद पानी ऑब्सर्व नहीं कर पाता। जिसकी वजह से पानी बाहर निकलने की कोशिश करता है। ओवर हाइड्रेशन के कारण शरीर में थकावट, सुस्ती और कम एनर्जी महसूस होने लगती है। सिरदर्द के साथ-साथ शरीर दर्द की परेशानी भी होती है। जी मिचलाना के साथ-साथ उल्टी महसूस होना ,टॉयलेट के लिए बार-बार जाना।

इस बीमारी से बचना है तो इन टिप्स को करना होगा फॉलो

वॉटर टॉक्सिसिटी से बचना है तो आपको करना होगा ये काम, आपने एक्सरसाइज के दौरान ज्यादा पानी पी लिया है तो आपको इलेक्ट्रोलाइट्स पीना चाहिए इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ-साथ आपको फलों का जूस और नारियल पानी पीना चाहिए
प्यास लगने पर एक साथ ढेर सारा पानी पीना भी सही नहीं होता है । शरीर के हिसाब से ही पानी पिएं।

एक दिन में कितना पानी शरीर के लिए है जरूरी
एक्सपर्ट के मुताबिक एक दिन में तीन लीटर पानी ठीक है। लेकिन आपको अपने शरीर को भी देखना है। अगर आपका शरीर ऐसा है कि आप 3 लीटर पी सकते हैं तो तभी पिएं। अगर इतना पानी पीना संभव नहीं है तो इससे जबरदस्ती न करें। एक साथ पानी पीने के बजाय आराम-आराम से पानी पीना ज्यादा सही होता है. यह आपकी सेहत को नुकसान भी नहीं पहुंचाएगा।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES