Sunday, April 14, 2024
Homeउत्तराखंडमेक्सिको के कैनकुन में थोक बाजारों का विश्व संघ सम्मेलन 2023 का...

मेक्सिको के कैनकुन में थोक बाजारों का विश्व संघ सम्मेलन 2023 का हुआ समापन

विश्व संघ सम्मेलन 2023 के अंतिम दिवस कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कैनकुन की सबसे बड़ी मंडी का किया भ्रमण

मंत्री बोले – तीन दिनों तक चले इस राष्ट्रीय सम्मेलन के अनुभवों का लाभ लेकर प्रदेश में किया जाएगा क्रियान्वित

मेक्सिको। प्रदेश के कृषि मंत्री एवं कृषि विपणन बोर्ड के राष्ट्रीय संघ (कौसाम्ब) के अध्यक्ष गणेश जोशी ने मेक्सिको के कैनकुन में थोक बाजार के वैश्विक संघ द्वारा आयोजित तीन दिवसीय थोक बाजारों का विश्व संघ सम्मेलन 2023 के समापन दिवस पर वर्ल्ड यूनियन ऑफ हॉलसेल मार्केट (WUWM) सम्मलेन के सभी प्रतिनिधिमंडलों के साथ कैनकुन की सबसे बड़ी मंडी का दौरा किया। मंत्री गणेश जोशी ने कैनकुन मंडी में बड़े कोल्ड स्टोर और कैनकुन के बड़े थोक बाजार का भ्रमण कर सभी प्रकार की सुविधाएं और व्यवस्थाओं का अवलोकन किया गया।

इस दौरान मंत्री गणेश जोशी ने मण्डी भ्रमण के दौरान वहां के थोक व्यापारियों से भी मुलाकात की और कई प्रकार के फल सब्जियों के बारे में जानकारी प्राप्त भी प्राप्त की। मंत्री गणेश जोशी ने कोरेन, फ्रांस के कृषि मंत्री और पोलैंड और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधिमंडल से कृषि और खाद्य प्रसंस्करण, फूलों की खेती के क्षेत्र में उत्तराखंड में निवेश के लिए अनुरोध भी किया गया। जिसपर सभी प्रतिनिधि मंडल ने सकारात्मक आश्वासन भी दिया। इस दौरान मंत्री गणेश जोशी ने फ्रांस के कृषि मंत्री और यूरोपीय देशों के अन्य प्रतिनिधिमंडल को पहाड़ी टोपी भी पहनाई। मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि तीन दिनों तक चले इस राष्ट्रीय सम्मेलन में जो अनुभव साझा किए गए है, उनका लाभ देश एवं प्रदेश का अवश्य मिलेगा। मंत्री ने कहा हम अपने प्रदेश में भी इस प्रकार की चीजों को क्रियान्वित करने का प्रयास करेंगे।

इस दौरान प्रबंध निदेशक डॉ जे. एस.यादव, क्षेत्रीय निदेशक कौसाम्ब विजय थपलियाल, सहित कई देशों के कृषि मंत्री एवं प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES