Sunday, March 3, 2024
HomeUncategorizedऐश्वर्या रजनीकांत निर्देशित लाल सलाम का टीजर रिलीज

ऐश्वर्या रजनीकांत निर्देशित लाल सलाम का टीजर रिलीज

लाइका प्रोडक्शंस के तहत ऐश्वर्या रजनीकांत के निर्देशन में बनी फिल्म लाल सलाम की टीम ने एक गहन और मनमोहक टीजऱ का अनावरण किया। यह भारतीय तमिल भाषा का खेल नाटक, ऐश्वर्या रजनीकांत द्वारा लिखित और निर्देशित और सुबास्करन अल्लिराजाह के बैनर लाइका प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित है, जिसमें विष्णु विशाल और विक्रांत मुख्य भूमिकाओं में हैं, जिसमें खुद रजनीकांत द्वारा एक उल्लेखनीय विस्तारित कैमियो है।

टीजऱ मुंबई में होने वाली घटनाओं को स्पष्ट रूप से चित्रित करता है, जो क्रिकेट-केंद्रित सेटिंग में हिंदुओं और मुसलमानों के बीच झड़पों के नतीजों पर प्रकाश डालता है। यह दो उत्साही क्रिकेट प्रेमियों की कहानी बताती है – एक हिंदू, दूसरा मुस्लिम – जो अपनी धार्मिक असमानताओं से प्रेरित होकर क्रिकेट के मैदान पर दुश्मनी और ईर्ष्या को बढ़ावा देते हैं।

कहानी का सार रजनीकांत द्वारा चित्रित मोइनुद्दीन भाई और बढ़ते तनाव को हल करने की उनकी खोज के इर्द-गिर्द घूमती है। टीजऱ में परस्पर विरोधी समुदायों के बीच संवाद और सुलह प्रयासों में शामिल होकर क्षेत्र में शांति बहाल करने के लिए मोइनुद्दीन भाई के संघर्ष को दिखाया गया है।

निर्माता दर्शकों को मोइनुद्दीन भाई के प्रयासों को देखने के लिए लाल सलाम के बारे में गहराई से जानने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, जिसका उद्देश्य दोनों समुदायों में निहित स्वार्थों और राजनीतिक उद्देश्यों से प्रेरित धार्मिक शत्रुता के साथ युवा दिमागों में जहर भरने से रोकना है। यह फिल्म पोंगल 2024 के लिए स्क्रीन पर रिलीज होने के लिए तैयार है, जिसमें विष्णु विशाल और विक्रांत युवा क्रिकेटरों की भूमिका निभाएंगे। आकर्षण को बढ़ाते हुए, फिल्म में महान क्रिकेटर और विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव का एक कैमियो है। लाल सलाम तमिल, तेलुगु, हिंदी, कन्नड़ और मलयालम में एक भव्य बहुभाषी रिलीज के लिए तैयार है।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES