Wednesday, February 21, 2024
HomeUncategorizedबार-बार गर्दन में होने वाले दर्द को हल्के में न लें, क्योंकि...

बार-बार गर्दन में होने वाले दर्द को हल्के में न लें, क्योंकि हो सकते हैं कैंसर के संकेत

खराब खानपान और लाइफस्टाइल की वजह से कैंसर हमारी जिंदगी में आग की तरह फैल गई है। आजकल आए दिन आप किसी न किसी कैंसर को लेकर चर्चे सुन ही लेंगे। हालांकि, मेडिकल साइंस में इतनी तरक्की होने के बावजूद अब तक इसका कोई परफेक्ट इलाज नहीं मिल पाया है।

रिपोर्ट के मुताबिक साल 2020 में एक करोड़ से ज्यादा लोगों की मौत का जिम्मेदार कैंसर हैं. इस आंकड़ें पर गौर करें तो हर 6 व्यक्ति में से एक की मौत कैंसर की वजह से होती है। कैंसर के शुरुआती संकेत बेहद आम होते हैं। अगर कैंसर का पता शुरुआत में ही चल जाए तो इसका इलाज आसानी से किया जा सकता है। गर्दन का दर्द एक बहुत ही आम समस्या है. इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे गलत मुद्रा आदि। यह कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन अगर यह दर्द लंबे समय तक बना रहे या ठीक न हो तो यह एक संकेत हो सकता है। गंभीर समस्या गर्दन में बार-बार दर्द होना गर्दन और सिर के कैंसर का लक्षण हो सकता है. जानिए क्या हैं इसके लक्षण और जोखिम कारक।

गर्दन के कैंसर के लक्षण क्या हैं? हमारी जीवनशैली के कारण गर्दन का दर्द एक बहुत ही आम समस्या बन गई है. बैठने की गलत मुद्रा के कई कारण हैं जैसे बहुत देर तक गर्दन झुकाकर बैठना। मांसपेशियों में खिंचाव या गलत मुद्रा में सोना जिससे आपकी गर्दन में दर्द हो सकता है। चिंता की बात तब भी हो जाती है जब यह दर्द बार-बार होने लगे या ठीक न हो. बार-बार गर्दन में दर्द रहना गर्दन या सिर के कैंसर का लक्षण हो सकता है।

गर्दन के कैंसर के प्रमुख लक्षण निम्नलिखित हैं-

  1. गला खराब होना
  2. सिरदर्द
  3. गर्दन का दर्द जो दूर नहीं होता
  4. सांस लेने या बोलने में परेशानी होना
  5. मुँह में या जीभ पर छाला जो ठीक न हो
  6. जबड़े या गर्दन की सूजन
  7. नाक से खून आना
  8. कान में दर्द या संक्रमण
  9. निगलने या चबाने में कठिनाई
  10. ऊपरी दातों या चेहरे में दर्द
  11. लार में खून

गर्दन के कैंसर के जोखिम कारक क्या हो सकते हैं?

  1. एचपीवी संक्रमण।
  2. एचपीवी संक्रमण से गर्दन का कैंसर होने की संभावना होती है. इसलिए इसका टीका लेना बहुत जरूरी है।
  3. खतरनाक रसायनों के संपर्क में आना।
  4. अपने काम के कारण आपको पेंट, लकड़ी की धूल आदि की गंध के संपर्क में काफी समय बिताना पड़ सकता है।
  5. इससे गर्दन और सिर का कैंसर हो सकता है. इसलिए ऐसे रसायनों से बचने का प्रयास करें।
Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES