Saturday, May 18, 2024
HomeUncategorizedआपके गले के लिए आफत बन सकती है त्योहारों की सफाई, इस...

आपके गले के लिए आफत बन सकती है त्योहारों की सफाई, इस तरह रखें अपनी सेहत का ख्याल

देश भर में त्योहारों का मौसम शुरू हो गया है. ऐसे में खरीदारी के साथ साथ जिस चीज पर लोगों का सबसे ज्यादा फोकस होता है, वो है घर की सफाई, दिवाली से पहले आपके भी घर में साफ सफाई का दौर शुरू हो गया होगा। ऐसे में सफाई के दौरान उडऩे वाली धूल और मिट्टी बहुत ज्यादा लोगों को बीमार कर डालती है। हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि सफाई के दौरान उडऩे वाली धूल और मिट्टी गले में जाकर शरीर को बीमार कर डालती है और इससे कई तरह की एलर्जी भी हो जाती है। चलिए जानते हैं कि सफाई के दौरान उडऩे वाली धूल मिट्टी से शरीर को क्या नुकसान होते हैं और इससे कैसे बचा जाए।

सफाई के दौरान उडऩे वाली धूल पहुंचाती है ये नुकसान  
हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि सफाई के दौरान कई तरह की धूल मिट्टी उड़ती है और ये हवा के जरिए नाक में चली जाती है। इससे शरीर के रेस्पिरेटरी सिस्टम को काफी नुकसान पहुंचता है। कई लोगों को धूल से एलर्जी होती है। ये धूल नाक के जरिए श्वसन प्रणाली में चली जाती है और अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, सर्दी जुकाम, नेजल ब्लॉकेज जैसी परेशानियों का कारण बन जाती है। इतना ही नहीं अगर घर में पेंट हो रहा है तो इसमें मौजूद कैमिकल भी आपके रेस्पिरेटरी सिस्टम को काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं। पेंटिंग कलर में पाया जाने वाला बैंजीन उन लोगो को काफी नुकसान पहुंचाता है जिनको एलर्जी होती है।

कैसे करें अपना बचाव  
त्योहार में घर साफ करना तो जरूरी है, इससे बचा नहीं जा सकता है. ऐसे में आपको चाहिए कि आप घर साफ करते समय खुद को सेफ रखें। अगर आपको धूल और मिट्टी से एलर्जी है तो आपको इस जगह से दूर रहना चाहिए। अगर आप खुद सफाई कर रहे हैं तो गीला कपड़ा नाक पर बांधकर सफाई करें। इससे धूल के कण आपकी नाक में नहीं जाएंगे। अगर घर में पेंट हो रहा है तो उस जगह पर जाने से बचिए। डस्ट मास्क लगाकर रखिए। ऑफिस में भी सेफ्टी के यही रूल्स अपनाएं। इससे आपका शरीर इस धूल मिट्टी और कैमिकल से बचा रहेगा।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES