Monday, June 24, 2024
Homeउत्तराखंडअग्निवीर भर्ती रैली के पहले दिन 70 फीसदी युवाओं ने दिखाया दमखम

अग्निवीर भर्ती रैली के पहले दिन 70 फीसदी युवाओं ने दिखाया दमखम

कोटद्वार। कौड़िया स्थित विक्टोरिया क्राॅस गबर सिंह कैंप में रविवार से गढ़वाल मंडल के सात जिलों की अग्निवीर भर्ती रैली शुरू हो गई है। पहले दिन चमोली, देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, टिहरी और उत्तरकाशी के पंजीकृत 714 युवाओं में से 70 फीसदी युवाओं ने अपना दमखम दिखाया। दौड़ में सफल युवाओं को अगले चरण की जांच के लिए आगे बढ़ा दिया गया। देर शाम तक इन युवाओं की फिजिकल और शैक्षिक प्रमाणपत्रों की जांच की गई। भर्ती के लिए काशीरामपुर तल्ला में बनाए गए प्रवेश द्वार पर रात तीन बजे से युवाओं की लाइन लगनी शुरू हो गई थी।

सबसे पहले युवाओं के प्रवेश पत्र, आधार कार्ड की जांच की गई। इसके बाद प्रारंभिक ऊंचाई की जांच हुई। ऊंचाई में सही पाए जाने वाले युवा गबर सिंह कैंप के बलवीर सिंह स्टेडियम में दौड़ के लिए पहुंचे। समूह में युवाओं की दौड़ कराई गई। दौड़ में सफल युवाओं का देर शाम तक फिजिकल और शैक्षिक प्रमाणपत्रों की जांच की गई। रक्षा मंत्रालय के उत्तराखंड के जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष श्रीवास्तव ने बताया कि पहले दिन 70 फीसदी युवाओं ने प्रतिभाग किया। सेना के अधिकारियों ने राष्ट्र की सेवा के प्रति युवा पीढ़ी के दृढ़ निश्चय की सराहना की। उन्होंने आगामी उम्मीदवारों को अपनी पहचान और पूर्ववृत्त के सत्यापन के लिए अपने आधार कार्ड को सक्रिय मोबाइल नंबरों से जोड़ने की सलाह दी है।

जिन लोगों का आधार सत्यापन नहीं हो सका है। उन्हें दस्तावेजी औपचारिकताएं पूरी करने के लिए 27 नवंबर तक का अतिरिक्त समय दिया गया है। कहा कि एआरओ लैंसडौन कार्यालय भरसक प्रयास कर रहा है कि केवल वास्तविक और योग्य उम्मीदवारों को ही देश के लिए अपनी सेवा प्रदान करने का अवसर मिल सके। 27 नवंबर को चमोली जनपद के 353, हरिद्वार के 228, रुद्रप्रयाग के 251, टिहरी के 290, उत्तरकाशी के 197 युवा कुल 1319 युवा प्रतिभाग करेंगे।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES