Saturday, May 18, 2024
Homeउत्तराखंडख़बरें बागेश्वर से....!

ख़बरें बागेश्वर से….!

बागेश्वर 09 दिसम्बर, 2019 (हि. डिस्कवर) –
जिलाधिकारी रंजना राजगुरू द्वारा जनपद अन्तर्गत बर्फबारी के सम्भावना के दृष्टिगत विभिन्न विभागों के साथ समीक्षा बैठक ली।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी द्वारा बर्फवारी से अवरूद्ध होने वाले मोटर मार्गों को सूचारू करने हेतु तैनात की जाने वाली जेसीबी एवं जेसीबी चालकों के फोन नम्बर, उनके तैनाती स्थल इत्यादि के संबंध में जानकारी ली। इसके संबंध में जानकारी देते हुए विभाग द्वारा अवगत कराया कि जनपद के संवेदनषील मार्ग जैसे रीखाडी, वाछम, धरमघर, गोगिना, सूपी इत्यादि क्षेत्रों हेतु जेसीबी को तैनात करने के संबंध में रूटचार्ट बना दिया गया है। जिस पर जिलाधिकारी ने पीडब्लूडी विभाग को निर्देष करते हुए कहा कि उक्त के संबंध में बनाये गये रूटचार्ट जिसमें जेसीबी की तैनाती स्थल, जेसीबी चालकों के फोन नंबर इत्यादि का स्पष्ट उल्लेख हो कि एक प्रति समस्त तहसीलों में उपलब्ध कराते हुए जिला आपदा प्रबन्धन कार्यालय को भी इसकी सूचना उपलब्ध कराये। उन्होंने कहा कि बर्फवारी के दौरान अवरूद्ध होने वाले मार्गों को जल्द से जल्द सूचारू करने हेतु सभी संबंधित विभाग अपनी अपनी तैयारियाॅ पूर्ण कर ले ताकि बर्फबारी के दौरान अवरूद्ध होने वाले मार्गों को खोलकर यातायात हेतु सूचारू किया जा सके। उन्होंने यह भी निर्देष दिये कि बर्फबारी के दौरान अवरूद्ध होने वाले मोटरमार्गाें एवं यातायात हेतु सूचारू किए गये मोटर मार्गों की अद्यतन सूचना संबंधित तहसीलों समेत नियमित रूप से जिला आपदा प्रबन्धन कार्यालय को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराई जाय।

जिलाधिकारी ने अधि0अभि0 विद्युत विभाग को निर्देषित करते हुए कहा कि बर्फबारी के दौरान विद्युत लाईनों के क्षतिग्रस्त होने पर उनके संबंध में की जाने वाली वैकल्पिक व्यवस्थाओं का अध्ययन करते हुए एक मजबूत रणनीति का निर्माण करें जिसमें उरेडा विभाग से समन्वयय कर सौर उपकरणों का अधिक से अधिक उपयोग करते हुए जनपद में विद्युत व्यवस्था को नियमित रूप से सूचारू करने का प्रयास किया जाय। उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग यह भी सुनिष्चित करें कि विद्युत आपूर्ति सूचारू करने हेतु कर्मचारियों को पर्याप्त मात्रा में सुरक्षात्मक उपायों के साथ तैनात किया जाय ताकि किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके।

जिलाधिकारी ने बर्फबारी के दृष्टिगत चिकित्सा विभाग द्वारा की गयी तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि चिकित्सा विभाग यह सुनिष्चित करें कि जनपद के समस्त सीएससी एवं पीएससी केन्द्रों में पर्याप्त मात्रा में मूलभूत एवं महत्वपूर्ण दवाईयाॅ उपलब्ध रहें, साथ ही बर्फबारी के दृष्टिगत संवेदनशील क्षेत्र में गर्भवती महिलाओं को चिन्हित करते हुए उनके संस्थागत प्रसव को अनिवार्य रूप से सुनिष्चित किया जाय इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय। इसके लिए यह आवष्यक है कि चिकित्साविभाग एएनएम एवं आषा कार्यकर्ताओं को इस संबंध में स्पश्ट एवं सख्त दिषा निर्देष जारी करें।

खाद्य विभाग की समीक्षा के दौरान जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद के 7 दूरस्थ क्षेत्र के पैदाल गोदामों में 6 माह का राशन वितरित किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त पूर्ति निरीक्षकों को यह भी निर्देष दिये है कि संवेदनशील क्षेत्रों के किराना दुकानदारों से समन्वयय करते हुए वहाॅ महत्वपूर्ण वस्तुओं का पर्याप्त स्टाक बनाये रखें। जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देषित करते हुए कहा कि बर्फबारी के दृश्टिगत संवेदनशील क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न एवं आवष्यक वस्तु उपलब्ध रहे साथ ही आवष्यकता पडने पर संबंधित उप जिलाधिकारियों के माॅग के अनुसार राशन के पैकेट आदि उपलब्ध कराना सुनिष्चित करें उन्होंने कहा कि यह भी सुनिष्चित किया जाय कि जनपद में पैट्रोल पंपों में पर्याप्त मात्रा में ईधन उपलब्ध हो साथ ही निष्चित मात्रा रिजर्व के रूप में प्रत्येक पैट्रोल पंप में रहे।

जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्य शिक्षा अधिकारी यह सुनिष्चित करें कि जनपद के बर्फबारी के दृश्टिगत संवेदनषील क्षेत्रों में संचालित हो रहे स्कूलों का चिन्हीकरण करते हुए इन्हें समय से ही सुरक्षित स्थानों पर हस्तांतरित कर दिया जाय। जिसके संबंध में विस्तृत रिपोर्ट संबंधित तहसील एवं जिला आपदा कार्यालय को उपलब्ध कराई जाय।

जिलाधिकारी ने जेटीओ को निर्देषित करते हुए कहा कि जनपद के दुर्गम एवं संवेदनषील क्षेत्र में बर्फबारी के दौरान संचार व्यवस्थायें दूरूस्थ रहे इसके लिए यह आवष्यक है कि इन दूरस्थ क्षेत्रों में स्थापित टावरों में पर्याप्त मात्रा में डीजल उपलब्ध रहे एवं इनके सफल संचालन हेतु वहाॅ पर्याप्त मात्रा में कर्मचारी तैनात हो। उन्होंने मुख्य कृशि अधिकारी को निर्देषित करते हुए कहा कि बर्फबारी के दृश्टिगत संवेदनषील क्षेत्रों में होने वाले फसल एवं पालीहाउस इत्यादि के नुकषान की भरपाई हेतु तत्काल रूप से प्रस्ताव प्रेशित करना सुनिष्चित करें।

पुलिस विभाग की तैयारियों की समीक्षा करते हुए उन्होंने पुलिस उपाधीक्षक को निर्देषित करते हुए कहा कि पुलिस विभाग संवेदनषील क्षेत्रों में स्थापित की जाने वाली वैकल्पिक संचार व्यवस्थाओं एवं अस्थाई चैकियों का निर्माण समय से करना सुनिष्चित करें। जिसके संबंध में विस्तृत रिपोर्ट जिला आपदा कार्यालय को उपलब्ध करायें।

उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देषित करते हुए कहा कि अधिकारी यह सुनिष्चित करें कि उनके फील्ड स्टाफ अपने अपने क्षेत्रों में बने रहे। जिसके माध्यम से विभाग नियमित रूप से संबंधित क्षेत्र की अद्यतन रिपोर्ट जिला आपदा प्रबन्धन कार्यालय को उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि जनपद में संवेदनषील क्षेत्रों को चिन्हीकरण करते हुए सभी विभाग परस्पर संमन्वयय एवं एकजूट रूप में कर्तव्यों का निर्वहन करें जिससे त्वरित बचाव एवं राहत कार्यो का संपादन किया जा सके।

बैठक में प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी के0 एन0 तिवारी, उपजिलाधिकारी बागेश्वर राकेश चन्द्र तिवारी, काण्डा योगेन्द्र सिंह, कपकोट प्रमोद कुमार, गरूड़ जयवर्धन शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक संगीता, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी बीएस रावत, अधि0अभि0 विद्युत भाष्करा नन्द पाण्डेय, पीएमजीएसवाई बागेश्वर राजेन्द्र प्रसाद, लोनिवि बागेश्वर उमेश पंत, कपकोट संजय पांडे, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक पदमेंद्र सकलानी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0बी0एस0रावत, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी शिखा सुयाल, मुख्य कृषि अधिकारी बी.पी.मौर्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी एन0एस0गस्याल, जिला पूर्ति अधिकारी अरूण कुमार वर्मा, अधि0अभि0 जलनिगम पी.सी.गंगवार, अधि0अधि0 सिंचाई ए.के.जाॅन सहित जनपदस्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

बागेश्वर 09 दिसम्बर, 2019 (हि. डिस्कवर)

आम जनता की समस्याओं के त्वरित निस्तारण करने के लिए कलैक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी रंजना राजगुरू की अध्यक्षता में जन सुनवाई आयोजित की गयी जिसमें जनपद से आये विभिन्न फरियादियों ने 22 शिकायतें दर्ज कराई गयी जिसमें अधिकतर शिकायतों का जिलाधिकारी ने मौके पर निराकरण कर षेश षिकायतों का अनुश्रवण कर संबंधित अधिकारियों को तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने जनसुनवाई में उपस्थित अधिकारियों से कहा कि जनता मिलन कार्यक्रम में प्राप्त होने वाले षिकायतों का निस्तारण एक सप्ताह के भीतर करना सुनिष्चित करें, तथा इसकी सूचना शिकायतकर्ता को भी उपलब्ध कराते हुए जिला कार्यालय को भी उपलब्ध करायें। जिलाधिकारी ने फरियादियों को बारी-बारी से बुलाकर उनसे सीधे संवाद करते हुए उनकी समस्याऐं सुनी।

जनता मिलन कार्यक्रम में ग्राम व पोस्ट बमराड़ी बागेश्वर निवासी डुंगर सिंह नगरकोटी ने गोमदी नदी के प्रवाह से ग्रामीणों की 15 नाली कृषि योग्य भूमि बह गयी है और कहा कि नदी के प्रवाह से आगे भी खतरा बना हुआ हैं जिसके लिए उन्होंने सुरक्षा दीवार व चैकडैम बनाने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने अधि0अभि0 सिंचाई विभाग को स्वंय मौके पर जाकर स्थलीय निरीक्षण कर आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देश दियें। ग्राम प्रधान बडेत भुबन सिंह ऐठानी ने शिकायत कर कहा कि ग्राम पंचायत बडेत के भानी हरसिंग्याबगड के पास किमी0 03 पर मंदिर के समीप अवैध रूप से खनन किया जा रहा हैं जिसके लिए उन्होंने खनन कार्य करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से तत्काल आवष्यक कार्रवाई करने के निर्देष दियें।

अमतौड़ा बेल्ता निवासी गोविंद प्रसाद ने शिकायत कर कहा कि कुकडगाड, गांधीग्राम एवं अमतौड़ा में सड़क में पुल एवं दीवारों का कार्य चल रहा हैं जिससे सड़क काफी खराब हो गयी है तथा निर्माण सामग्री में जहां-तहां फेंकी हुई है और सड़क पर हमेशा पानी भरा रहता हैं जिस कारण हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है इसके लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों से स्थलीय निरीक्षण करवाने और पानी निकासी हेतु नाली बनाये जाने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने अधि0अभि0 लोनिवि बागेष्वर को स्वंय मौके पर जाकर समस्या का समाधान करने के निर्देश दियें। क्षेत्र पंचायत सदस्य पुडकूनी, चलकानाा, लखमारा प्रेमा दानू ने शिकायत कर कहा कि पुडकूनी, चलकानाा, लखमारा सहित अन्य ग्राम सभाओं में एक भी इंटर काॅलेज न होने के कारण यहां के बच्चों को उफनते नालों एवं दरकते पहाडों से गिरते पत्थरों की डर के बीच हरसीला जाना पडता हैं इसके लिए उन्होंने विभागीय सर्वे कराकर इंटर काॅलेज स्वीकृति कराने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी बागेश्वर को आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देश दियें।

इन्द्रा देवी निवासी बिलौना ने अपने शिकायती पत्र में कहा कि वह अपने पुराने मकान को सही कराना चाहती है मगर प्राधिकरण से अनापत्ति न मिल पाने के कारण ऋण नही मिल पा रहा है जिसके लिए उन्होंने अनापत्ति दिलाने की मांग कि जिस पर जिलाधिकारी ने सचिव जिला विकास प्राधिकरण को तत्काल देखने को निर्देश दियें। ग्राम प्रधान द्यागण ने षिकायत कर कहा कि धारी पेयजल योजना थुडाई के पास टूट जाने के कारण द्यांगण ग्राम सभा में पानी मे आपूर्ति पूर्ण रूप से बंद हो गयी हैं जिससे ग्रामीणांे को काफी पेरशानी का सामना करना पड़ रहा हैं जिसके लिए उन्होंने पेयलजल लाईन की मरम्मत कराकर अतिषीघ्र ग्राम द्यांगण में पेयजल की आपूर्ति कराने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी एवं खंड विकास अधिकारी को मौके पर जाकर समस्या का समाधान करने के निर्देष दियें।

पूरन सिंह रावल सरपंच ग्राम अंडोली एवं समस्त ग्रामीण ने षिकायत कर कहा कि बागेष्वर नगर के मीट बिक्रेताओ द्वारा काटी गई बकरी एवं मुर्गो के अवषेश का ग्राम सभा द्यागण के तोक अंडोली से होकर गुजर रहे मोटर मार्ग के किनारे व कलमठों में डाला दिया जा रहा हैं जिससे इस क्षेत्र मंे भीशण दुर्गध फेल रही हैं जिससे बीमारियों के पैदा होने का खतरा भी बना हुआ हैं इसके लिए उन्हांेने आवष्यक कार्यवाही करने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी बागेष्वर एवं अधिषासी अधिकारी नगर पालिका को संयुक्त निरीक्षण कर आवष्यक कार्यावाही करने के निर्देष दियें। पूरन सिंह निवासी ग्राम सरना सिमस्यारी ने षिकायत कर कहा कि उनकी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की राषि अन्य के खाते में चली गयी है जिसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की राषि उनके खाते में दिलाये जाने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य कृशि अधिकारी को आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दियें। नन्दी देवी निवासी अनर्सा ने आवासीय मकान दिलाये जाने की मांग की जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दिये तथा नन्दी देवी पौत्रों को आंगनबाडी केन्द्रों में दाखिला हेतु जिला षिक्षा अधिकारी को तथा समाज कल्याण अधिकारी को उनकी बहु के लिए पेंषन लगाने के लिए आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दियें।

जिलाधिकारी ने जनता मिलन कार्यक्रम के अंतर्गत प्राप्त षिकायतों के निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देष दिये है कि जिन षिकायतों पर मौका मुआयना एवं स्थलीय निरीक्षण किया जाना है उन षिकायतों के निराकरण के लिए अधिकारी स्वंय मौके पर जाकर स्थलीय निरीक्षण करते हुए समय सीमा के अन्तर्गत समस्याओं का निराकरण करना सुनिष्चित करें।

बैठक में प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी के0 एन0 तिवारी, उपजिलाधिकारी बागेश्वर राकेश चन्द्र तिवारी, काण्डा योगेन्द्र सिंह, कपकोट प्रमोद कुमार, गरूड़ जयवर्धन शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक संगीता, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी बीएस रावत, अधि0अभि0 विद्युत भाष्करा नन्द पाण्डेय, पीएमजीएसवाई बागेश्वर राजेन्द्र प्रसाद, लोनिवि बागेश्वर उमेश पंत, कपकोट संजय पांडे, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक पदमेंद्र सकलानी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0बी0एस0रावत, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी शिखा सुयाल, मुख्य कृषि अधिकारी बी.पी.मौर्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी एन0एस0गस्याल, जिला पूर्ति अधिकारी अरूण कुमार वर्मा, अधि0अभि0 जलनिगम पी.सी.गंगवार, अधि0अधि0 सिंचाई ए.के.जाॅन सहित जनपदस्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES