Saturday, May 18, 2024
Homeउत्तराखंडसंक्राति के अवसर पर 10 लाल बत्तियां बंटी।

संक्राति के अवसर पर 10 लाल बत्तियां बंटी।

देहरादून 14 जनवरी 2020 (हि.डिस्कवर)।

पिछले तीन दिनों से चल रहे हाई वॉल्टेज की अब हबड़ाहट में ही सही. ! शुरुआत हो ही गयी। प्रदेश भाजपा द्वारा 10 पार्टी कार्यकर्ताओं को लाल बत्ती से नवाजा गया है। यह अभी आगाज है लेकिन दिल थामने के लिए आगे भी तैयार रहिये क्योंकि मंत्रिमंडल के विस्तार का बबाल अभी बाकी है।

कुर्सी यकीनन बहुत अजीब चीज होती है। जब तक वह नसीब नहीं होती तब तक लोग उसके त्यागी बने रहते हैं जब नसीब होती है तो ऐसे चिपकते हैं जैसे फेविकोल का जोड़।

बहरहाल दिल्ली दरबार के दरबारियों की आमद बढ़ने की खबर से लाल बत्तियों के हिचकोले शुरू हो गए हैं। सीट बचाएं या प्रदेश यह भाजपा कार्यकारिणी को अभी समझ नहीं आ रहा है। फिलहाल 10 लालबत्तियों के नए अवतरण को सलाम।

बहरहाल डोईवाला (दुधली) के वरिष्ठ भाजपा नेता करन बोरा को मिला उत्तराखंड सरकार में बड़ा दायित्व। बनाये गये वन पंचायत सलाहकार परिषद के उपाध्यक्ष ( राज्यमंत्री)।
डोईवाला के भाजपा नेताओं ने करन बोरा को राज्यमंत्री बनाये जाने पर जताई खुशी। दायित्व मिलनें पर करन बोरा ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का जताया आभार।

राज्य सरकार ने इन 10 लोगों को दिए दायित्व:-

राजवीर सिंह को बनाया गया अध्यक्ष उत्तराखंड राज्य बीज एवं जैविक उत्पाद प्रमाणीकरण संस्था, विश्वास डाबर को अध्यक्ष उत्तराखंड आवास एवं विकास परिषद, प्रमाणित प्रोफेसर बहादुर सिंह बिष्ट को बनाया गया उपाध्यक्ष उत्तराखंड राज्य उच्च शिक्षा उन्नयन समिति, अतर सिंह असवाल को बनाया गया उपाध्यक्ष सिंचाई सलाहकार समिति, अतर सिंह तोमर को बनाया गया उपाध्यक्ष सिंचाई सलाहकार समिति, शोभाराम प्रजापति को बनाया गया उपाध्यक्ष माटी कला बोर्ड, फकीर राम टम्टा को बनाया गया उपाध्यक्ष समाज कल्याण योजना अनुश्रवण समिति, खेम पाल सिंह को बनाया गया उपाध्यक्ष पिछड़ा वर्ग कल्याण परिषद, करण बोहरा को बनाया गया उपाध्यक्ष उत्तराखंड वन पंचायत सलाहकार परिषद, सुशील चौहान को बनाया गया उपाध्यक्ष जैविक उत्पाद परिषद।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES