Monday, June 24, 2024
Homeउत्तराखंडमुख्यमंत्री ने किया नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का उद्घाटन।

मुख्यमंत्री ने किया नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का उद्घाटन।

देहरादून 27 दिसम्बर, 2019 (हि. डिस्कवर)
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने परेड ग्राउण्ड देहरादून में उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद द्वारा आयोजित नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का उद्घाटन किया। इस एक्सपो का आयोजन 12 जनवरी 2020 तक किया जायेगा।

मुख्यमंत्रीने कहा कि पिछले कुछ सालों से देहरादून में लगातार नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का आयोजन किया जा रहा है। इससे लोगों को अपनी पसंद के उत्पाद एवं अनेक राज्यों के पहनावे मिल जाते हैं। देशभर से आये शिल्पकारों को इससे अच्छी आमदनी भी प्राप्त होती है। अपने परम्परागत हस्तशिल्पों एवं लोक कलाओं, के संरक्षण व प्रोत्साहन हेतु सभी को आगे आने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नेशनल हैण्डलूम एक्सपो एक ऐसा मंच है जिसके माध्यम से राज्य के दूरस्थ क्षेत्रों के महिला स्वयं सहायता समूह, सहकारी समितियां, शिल्पकार, बुनकर अपने उत्पादों को बड़े मार्केट से जोड़ पाते है। इस प्रकार के आयोजन से प्रतिभागी बुनकरों व शिल्पियों  को आपस में अनुभव बांटने का भी अवसर मिलता है।

निदेशक उद्योगसुधीर नौटियाल ने बताया कि इस वर्ष के नेशनल हैण्डलूम एक्सपों में 14 राज्यों के 200 से अधिक स्टॉल लगाये गये हैं। उत्तराखण्ड से 60 हथकरघा बुनकरों द्वारा प्रतिभाग किया गया है। एक्सपो में विभिन्न राज्यों के शॉल, जयपूरी रजाई, कांजीवरम सिल्क, बनारसी साड़ियां, बेडशीट, बेडकवर, ऊनी पश्मीना शॉल, टोपी, कालीन, शॉल आदि बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। नेशनल हैण्डलूम एक्सपो में हथकरघा मण्डप के अन्तर्गत विभिन्न प्रांतों एवं क्षेत्रों के विशिष्ट हथकरघा उत्पादों को प्रदर्शन हेतु रखा गया है। उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद द्वारा राज्य के विशिष्ट उत्पादों को हिमाद्रि ब्राण्ड नेम के अन्तर्गत प्रोत्साहित किया जा रहा है। हिमाद्रि मण्डप में हथकरघा उत्पादों के साथ-साथ हस्तशिल्प उत्पादों को भी बेचा जा रहा है।
इस अवसर पर  मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजान दास, गोपाल सिंह रावत आदि उपस्थित थे।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES