Saturday, May 18, 2024
Homeउत्तराखंडगुलदार के हमले से भाई को बचाने वाली राखी का नाम वीरता...

गुलदार के हमले से भाई को बचाने वाली राखी का नाम वीरता पुरस्कार के लिए जाएगा! क्षेत्रीय विधायक व पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने दी एक लाख की सहायता!

*मुख्यमंत्री ने कहा राज्य सरकार घायल राखी व परिजनों को हर सम्भव सहायता देगी!

नयी दिल्ली/देहरादून 8 सितम्बर 2019 (हि. डिस्कवर)

आखिर उस अदम्य साहसी 11 बर्षीय बेटी राखी को आज शांय 4 बजे राम मनोहर लोहिया अस्पताल दिल्ली से डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया है जिसने अदम्य साहस का परिचय देते हुए गुलदार के मुंह से अपने 4 बर्षीय भाई को बचा दिया व खुद घायल हो गयी! जहाँ एक ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने राखी को राज्य सरकार की ओर से हर सम्भव सहायता दिए जाने की बात कही है वहीँ क्षेत्रीय विधायक व परदेश के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज द्वारा अपने निजी वेतन से राखी के परिजनों को एक लाख की धनराशि दी है व इलाज का सम्पूर्ण खर्चा खुद वहन करने की बात की है!

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद पौड़ी के देवकुंडाई गांव के दलवीर सिंह रावत की पुत्री, कक्षा पाँच की छात्रा 11 वर्षीय बालिका राखी द्वारा अपने चार वर्षीय भाई राघव को गुलदार के हमले से बचाते हुए घायल होने पर उनके परिजनों से फोन पर बात कर बालिका राखी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने राज्य सरकार की ओर से हर तरह की मदद का भरोसा दिया। ईलाज के लिए दिल्ली के अस्पताल में भर्ती हुई बालिका राखी अब खतरे से बाहर है और उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

 मुख्यमंत्री ने राखी के पूर्ण स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए कहा कि इस बालिका ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए अपने छोटे भाई को बचाया। हम अपनी बेटी राखी की वीरता पर गौरान्वित हैं। मुख्यमंत्री ने दिल्ली स्थित उत्तराखंड के अपर स्थानिक आयुक्त को बालिका राखी के परिजनों के सम्पर्क में रहते हुए हर आवश्यक उपचार व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं।

ज्ञात हो कि पौङी जिले के बीरोंखाल विकासखंड के देवकुंडाई गांव में शुक्रवार  को 11 साल की राखी खेत से अपनी माँ व अपने 4 साल के भाई के साथ घर आ रही थी तब एक गुलदार ने उस पर हमला कर दिया, लेकिन राखी ने गुलदार से डरने के बजाय उसका सामना किया और अपने भाई की रक्षा की।

वहीँ दूसरी ओर क्षेत्रीय विधायक व प्रदेश के काबीना मंत्री सतपाल महाराज ने इस बात को बेहद गम्भीरता से लेते हुए विगत 7 अक्टूबर को अपने बिशेष कार्याधिकारी अभिषेक शर्मा को दिल्ली भेजकर राखी का हालचाल पूछकर उसे राम मनोहर हॉस्पिटल में भर्ती करवाने को कहा! उनके ओएसडी अभिषेक ने दूरभाष पर जानकारी देते हुए बताया कि मंत्री जी के निर्देश पर उन्होंने विगत रात्री 9 बजे राखी को हॉस्पिटल में एडमिट करवाया व उनके परिजनों को एक लाख की धनराशि सौंपी वहीँ प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सरकार राखी व उसके परिजनों की हर सम्भव सहायता करेगी !

अभिषेक शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि आज शांय चार बजे राखी के डिस्चार्ज होने की सूचना उन्हें टेलीफोन पर राखी की बुआ अंजू देवी द्वारा दी गयी है व बताया गया कि राखी अब ठीक है भले ही उसके घाव भरने में अभी समय लगेगा! जिलाधिकारी पौड़ी धिराज गर्ब्याल ने कहा है कि वह इस साहसी लड़की जोकि कक्षा पांच की छात्रा भी है का नाम वीरता पुरस्कार के लिए सरकार को पत्र भेजेंगे ताकि हमें अपनी ऐसी बेटियों पर नाज हो!

बहरहाल राखी के स्वस्थ होने की कामना व वापस गाँव लौटने का सभी बेसब्री से इन्तजार कर रहे हैं लेकिन ग्रामीणों में यह भी चर्चा जोर शोर पर है कि अक्सर उनके विधायक व काबीना मंत्री सतपाल महाराज के बारे में झूठी अफवाह फैलाई जाती है कि वे व्यक्तिगत सहायता के लिए कभी आगे नहीं आते! उन सबके लिए राखी का प्रकरण संज्ञान लेने के लिए काफी है!

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES