Wednesday, June 26, 2024
Homeउत्तराखंडगांधी जयंती पर मुख्यसचिव ने राष्ट्रपति महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री...

गांधी जयंती पर मुख्यसचिव ने राष्ट्रपति महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री के चित्रों पर किया माल्यार्पण!

देहरादून 02 अक्टूबर, 2019(हि. डिस्कवर)
सचिवालय में महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में जन्मदिवस कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्रों का अनावरण कर माल्यार्पण किया गया।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव श्री आनदं वर्द्धन, सचिव शैलेश बगौली, श्रीमती सौजन्या, अरविन्द सिंह ह्यांकी, हरबंस सिंह चुघ, भूपेन्द्र सिंह मनराल, प्रभारी सचिव पंकज पाण्डेय,, अपर सचिव न्याय सयन सिंह, रितेश श्रीवास्तव, अपर सचिव विनोद सुमन एवं प्रताप शाह सहित समस्त अपर सचिव तथा सचिवालय के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं भारत के मा0 पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित की गई।


इस अवसर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह द्वारा समस्त अधिकारियों एवं कर्मियों को अंहिसा एवं शांति प्रतिज्ञा तथा सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त उत्तराखण्ड बनाने की शपथ दिलाई गई। अंहिसा एवं शांति प्रतिज्ञा में सामंजस्य, सद्भावना, प्रेम, अंहिसा और शान्ति को बढ़ावा देने, सम्पूर्ण मानवता का सम्मान करने, बिना किसी डर व पक्षपात के सत्य एवं न्याय का समर्थन करने का संकल्प दिलाया गया। सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त उत्तराखण्ड बनाने के शपथ में प्लास्टिक कप, प्लेट, चम्मच, गिलास, प्लास्टिक थैलियों का उपयोग न करने तथा परिवार व दोस्तों को सिंगल यूज प्लास्टिक के खतरों के बारे में जागरूक करने में अपना योगदान करने का संकल्प दिलाया गया।
इस अवसर पर भातखण्डे संगीत महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा राम धुन भजन का गायन किया गया।  

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES