Thursday, February 22, 2024
Homeउत्तराखंडखबरें अल्मोड़ा से...!

खबरें अल्मोड़ा से…!

अल्मोड़ा 09 दिसम्बर, 2019 (हि. डिस्कवर)

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में आज जनता मिलन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनता मिलन कार्यक्रम में कुल 07 शिकायतें फरियादियों/शिकायतकर्ताओं द्वारा दर्ज करायी गयी। इस दौरान विकासखण्ड हवालबाग के ग्राम छाना में सिंचाई व्यवस्था न होने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने लघुडाल के अधिकारियों को तत्काल मौके पर जाकर सर्वे कर सिंचाई व्यवस्था दुरूस्त करने के निर्देश दिये। वहीं ज्यूलीगाॅव में पेयजल व्यवस्था की शिकायत पर उन्होंने जल संस्थान के अधिकारियों को भी स्थलीय निरीक्षण कर पेयजल व्यवस्था सही करने के निर्देश दिये। जनपद मिलन कार्यक्रम में कुज्याड़ी से बसगाॅव मोटर मार्ग के अभी तक कार्य प्रारम्भ नहीं होने की शिकायत पर अधिशासी अभियन्ता द्वारा अवगत कराया गया कि मोटर मार्ग हेतु विधिवत् स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है व आगणन शासन को प्रेषित कर दिया गया है।
इस दौरान फरियादियों द्वारा नन्दागौरा योजना के अन्तर्गत मिलने वाले कन्याधन के सम्बन्ध में भी शिकायत दर्ज की जिसमें मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि बजट उपलब्ध हो चुका है शीघ्र ही लाभार्थियों को धनराशि आवंटित कर दी जायेगी। दुगालखोला में क्षतिग्रस्त पाईपलाइन की शिकायत पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जनता मिलन में असंगठित क्षेत्रों के मजदूरों को कम मजदूरी दिये जाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने श्रम परिर्वतन अधिकारी को तत्काल ऐसे समस्त क्षेत्रों का भ्रमण करने के निर्देश दिये जहा पर निर्माण कार्य चल रहे हो और उसकी रिर्पोट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनता मिलन के दौरान प्राप्त शिकायतों का यथा सम्भव एक सप्ताह के भीतर निस्तारण किया जाय किसी कारणवश निस्तारण नहीं होने की स्थिति में स्पष्ट आख्या जिला कार्यालय को भेजी जाय। इस दौरान उन्होंने मा0 मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं के सम्बन्ध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जो घोषणायें जनपद से सम्बन्धित है उनका आगणन, डी0पी0आर, प्रस्ताव आदि इस माह के अन्त तक शासन को भेजना सुनिश्चित करें साथ ही प्रतिलिपि जिला कार्यालय को भी भेजी जाय। जिलाधिकारी ने सी0एम0 हैल्पलाईन में आ रही शिकायतों को भी गम्भीरता से लेते हुए तय समय में निस्तारण करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि सी0एम0 हैल्प लाईन में विशेषकर वन विभाग, शिक्षा, स्वास्थ्य, लोक निर्माण विभाग, राजस्व, समाज कल्याण विभाग दैनिक आधार पर शिकायतों का निस्तारण करना सुनिश्चित करे। इन विभागों के स्तर से अधिकांश शिकायतें लम्बित है।
जनता मिलन कार्यक्रम के दौरान मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल, उपजिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा, मोनिका, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विनीता साह,, परियोजना निदेशक नरेश कुमार, जिला विकास अधिकारी के0के0 पंत, मुख्य शिक्षाधिकारी जगमोहन सोनी, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी मनोहर लाल, मुख्य कृषि अधिकारी प्रियंका सिंह, सहायक निबन्धक सहकारिता राजेश चैहान सहित समस्त जनपदस्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

अल्मोड़ा 09 दिसम्बर, 2019 ( हि. डिस्कवर )

सम्भागीय परिवहन अधिकारी शैलेश तिवारी ने बताया कि जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया की अध्यक्षता में दिनाॅंक 10 दिसम्बर को सांय 4ः00 बजे से जिला कार्यालय में आहूत की गयी है।

अल्मोड़ा 09 दिसम्बर, 2019 ( हि. डिस्कवर )

अपर जिलाधिकारी बी0एल0 फिरमाल ने बताया कि दिनाॅंक 11 दिसम्बर, 2019 को प्रातः 10ः00 बजे से शान्ति एवं कानून व्यवस्था, राजस्व/वसूली आदि कार्यों की मासिक स्टाफ बैठक जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार, अल्मोड़ा मंे आयोजित की जायेगी। उन्होंने समस्त जनपदस्तरीय अधिकारियों को इस बैठक में यथा समय यथा स्थान प्रतिभाग करने के निर्देश दिये है।

अल्मोड़ा 09 दिसम्बर, 2019 ( हि. डिस्कवर )

जिला खनिज फाउण्डेशन न्यास की बैठक जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने बताया कि उत्तराखण्ड खनिज फाउण्डेशन न्यास नियमावली 2017 के अन्तर्गत जनपद में जिला खनिज फाउण्डेशन न्यास का गठन किया गया है। उन्होंनेे बताया कि न्यास में जमा होने वाले अंशदान जिनमें खनन पटटों तथा सरकारी विभागों द्वारा जमा की जाने वाले रायल्टी के अतिरिक्त 25 प्रतिशत अंशदान जमा कर खनन प्रभावित ग्रामों में मूलभूत सुविधाओं हेतु कार्य किया जाना है। जिलाधिकारी ने समस्त कार्यदायी संस्थाओं को अनिवार्य रूप से खनिज न्यास बोर्ड में रॉयल्टी जमा करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने बताया कि न्यास द्वारा प्रभावित ग्रामों के विकास हेतु धनराशि को खर्च किया जायेगा जिसमें चिकित्सा, शिक्षा, पेयजल, आपूर्ति, कौशल विकास आदि के अन्तर्गत खर्च किये जा सकते है। उन्होंने प्राथमिकता के आधार पर इन विभागो से प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये ताकि आवश्यकतानुसार चिन्हित स्थानांे पर विकास कार्य किये जा सके।  जिलाधिकारी ने कहा कि समस्त प्रस्तावों का स्थलीय निरीक्षण के उपरान्त एवं आगणन प्रस्तुत करने पश्चात् ही धनराशि का आवंटन किया जायेगा। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि खनन पटटा क्षेत्र के 02 किमी0 अन्तर्गत प्रभावित ग्रामों में ही मूलभूत सुविधाओं एवं अन्य विकास कार्यों हेतु कार्य किया जाना है। इसके अंतर्गत 30 लाख तक की योजनाओं को शामिल किया जा सकता है।

बैठक में उप निदेशक खनिज जी डी प्रसाद ने खनिज फाउण्डेशन न्यास के कार्यों, उददेश्यों, न्यास में प्रस्तावों की प्रकृति तथा जमा अंशदान से किस-किस क्षेत्र में कार्य किया जा सकता है आदि के बारे में संक्षिप्त रूप से बताया। इस बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ विनीता शाह, अधिशासी अभियन्ता विद्युत खण्ड डी0डी0 पांगती, अधिशासी अभियन्ता लघु सिंचाई के0एस0 कन्याल, जिला शिक्षा अधिकारी राय साहब यादव,  सहायक अभियन्ता, सिंचाई मनीष कुमार, सहायक अभियन्ता जल संस्थान मंजुल मेहता पटल सहायक जगजीवन बिष्ट सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES
Ad