Wednesday, June 19, 2024
Homeउत्तराखंडकुंभ मेला में घटिया निर्माण कार्य, थर्ड पार्टी जांच में खुलासा, इंजीनियरों...

कुंभ मेला में घटिया निर्माण कार्य, थर्ड पार्टी जांच में खुलासा, इंजीनियरों पर लटकी कार्रवाई की तलवार।

*सिंचाई विभाग के कार्यों में सर्वाधिक गड़बड़ी!

देहरादून 14 जनवरी 2020 (हि.डिस्कवर) ।

कुंभ मेला तैयारियों को लेकर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय बैठक हुई। इस बैठक में कुंभ मेले के निर्माणकार्यो को लेकर चर्चा हुई। बैठक में यह बात सामने आई कि कुंभ मेला के कई निर्माण कार्य थर्ड पार्टी जांच में घटिया मिले हैं। शासन ने लगभग ढाई सौ कार्यों की गुणवत्ता जांच करवाई है। निर्माण में सर्वाधिक गड़बड़ी सिंचाई विभाग के कार्यों में मिली।

जिसके बाद मुख्य सचिव ने सिंचाई विभाग के इंजीनियरों को चेतावनी जारी करने के आदेश दिए हैं। सचिवालय में हुई बैठक में मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से समझौता नहीं होगा। उन्होंने कहा कि थर्ड पार्टी जांच में घटिया मिले निर्माण को नए सिरे से करवाया जाए। उन्होंने सिंचाई विभाग की स्वीकृत योजनाओं के निरीक्षण में मिली गड़बड़ियों पर नाराजगी जताई। मेला अधिकारी को विभागीय इंजीनियरों पर कार्रवाई कर शासन को रिपोर्ट करने के निर्देश दिये।
विज्ञापन

79 करोड़ रुपये के कार्य गतिमान साथ ही निर्माण करने वाले ठेकेदारों के कार्य रद्द कर नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा है। मुख्य सचिव ने प्राथमिकता वाले 48 प्राथमिकता कार्यों को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश भी दिए। उन्होंनेे रानीपुर रोह पर डबल लेन पुल के निर्माण की समीक्षा में पाया की काम की रफ्तार बेहद धीमी है।

पेयजल निगम और जल संस्थान को तेजी से कार्य करने के निर्देश दिए। लिंक अधिकारी शहरी विकास सचिव आरके सुधांशु ने बैठक में बताया कि मेला योजना के लिए शासन के स्वीकृत 39 कार्यों के लिए 197 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं। इसमें से विभाग के 79 करोड़ रुपये के कार्य गतिमान हैं।

कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने चल रहे निर्माण कार्यों की स्लाइड शो के माध्यम से प्रस्तुती दी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, वित्त सचिव सौजन्या, आयुक्त गढ़वाल रविनाथ रमन, आईजी गढ़वाल संजय गुंज्याल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES