Wednesday, June 26, 2024
Homeलोक कला-संस्कृतिएग्जिट पोल की माने तो मोदी फिर से प्रचंड बहुमत के साथ...

एग्जिट पोल की माने तो मोदी फिर से प्रचंड बहुमत के साथ कर रहे हैं सत्ता में वापसी।

(मनोज इष्टवाल)

यह सचमुच आश्चर्यजनक है क्योंकि देश भर की तमाम बड़ी विपक्षी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत इस बार मोदी को सत्ता से बेदखल करने में लगा रखी थी। उन्हें इसकी परवाह नहीं थी कि सरकार भाजपा बनाये या कोई और. .। उनका एक ही मकसद था या अब भी है कि किसी भी हाल में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न बन सकें। इसमें साम दाम दण्ड भेद सहित जाने क्या क्या रणनीति कूटनीति व राजनीति के रूप में महागठबंधन ने झोंक दी लेकिन फिर भी कामयाब नहीं हो सके। जहां एग्जिट पोल के आकलनों से महागठबंधन सदमे में है वहीं राष्ट्रवाद की जीत पर देश झूम रहा है भाजपा या एनडीए तो झूमेगा ही झूमेगा। फिर भी दो दिन और शेष हैं इंतजार की घड़ियों की सुई थमने के लिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17वीं लोकसभा में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापस आ सकते हैं। इंडिया टुडे एक्सिस एग्ज़िट पोल के नतीजे कह रहे हैं कि इस बार एनडीए सरकार 339 से 365 सीटें जीत रही है।

इतनी सीटों को हासिल करने की एग्ज़िट पोल की भविष्यवाणी के अनुसार, एनडीए लगभग पूरे उत्तर भारत और दक्षिण में कर्नाटक में सबको अपने आश्चर्यजनक परिणामों से हैरत में डाल देगी। अन्य एग्ज़िट पोल जैसे टाइम्स नाऊ, वीएमआर और रिपब्लिक टीवी- सीवी वोटर एनडीए को 287 से 306 सीट के साथ पूर्ण बहुमत मिलने की संभावना जता रहे हैं।

जन की बात ने एनडीए को 315 सीटें मिलने की संभावना जताई है तो न्यूज एक्स ने 298 सीटें मिलने की बात कही है। 2014 के आम चुनावों की संख्या के अनुसार, चाणक्या ने एनडीए के लिए जो संभावना जताई है, वो 340 सीटों की है।

चुनाव के नतीजों के दौरान एनडीए को झटका पश्चिम बंगाल में लग सकता है क्योंकि एग्ज़िट पोल के नतीजे वहाँ उसे महज 26 सीटें मिलने का अनुमान ही जता रहे हैं। उत्तर प्रदेश में 49 प्रतिशत वोटों के साथ सपा-बसपा के गठबंधन को मात देते हुए एनडीए के 68 सीटों पर विजय पताका लहराने की संभावना जताई जा रही है। लेकिन यह भी सच है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जो खुला तांडव दिखाया उससे वहां के खुद टीएमसी समर्थक हताश व निराश हैं। सूत्रों की मानें तो खामोश वोटर पश्चिम बंगाल में जितनी भी भविष्यवाणी एग्जिट पोल की हैं उनसे उलट परिणाम दे सकता है।

उत्तर प्रदेश एक ऐसा प्रदेश है जो आजतक भारत बर्ष की राजनीति में सबसे बड़ा उलटफेर करने वाला प्रदेश माना जाता है क्योंकि यहीं सबसे अधिक लोकसभा की सीटें हैं। 80 लोकसभा सीटों पर सपा व बसपा जिन्होंने बर्षों प्रदेश की राजनीति में एकछत्र राज किया द्वारा मिलकर भाजपा के विरुद्ध शंखनाद किया था तब शुरुआती दौर भवन लग रहा था कि भाजपा यहां बहुत पिछड़ जाएगी व बमुश्किल 20 से 22 सीटों पर सिमटकर रह जायेगी लेकिन ये सभी अनुमान एग्जिट पोल के सर्वे ने गलत साबित कर दिये हैं और 80 से 50 उस से ऊपर सीटों पर भाजपा की जीत दिखाकर यह साबित करने को काफी है कि योगी राज में न सिर्फ प्रदेश का विकास हुआ है बल्कि उत्तर प्रदेश से गुंडई नामक कलंक भी मिट गया है। यह सचमुच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए अग्नि परीक्षा से गुजरने जैसा काम था।

इधर चुनाव का प्रचार प्रसार खत्म होते ही प्रधानमंत्री नरेंद मोदी की केदारनाथ यात्रा से विपक्ष के पेट में जो मरोड़ पड़ी वह असहाय थी। शायद महागठबन्धन पहले से आश्वस्त था कि प्रधानमंत्री मोदी फिर से सत्ता में काबिज होने जा रहे हैं इसलिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव आयोग को यह शिकायत करने की बात कहने लगी कि मोदी की केदारनाथ यात्रा व योगध्यान एक नाटक है वे केदारनाथ बैठकर भी मतदाताओं को रिझाने का प्रयास कर रहे हैं।बहरहाल आज से तीसरे दिन लोकसभा के परिणाम सार्वजनिक होने वाले हैं और एग्जिट पोल मोदी के पक्ष में है। इस बार मोदी लहर जमकर थी लेकर वोटर खामोश था , वह तय करेगा कि परिणाम क्या निकलेंगे और यदि भूल से वह भी राष्ट्रवाद या मोदी के नाम वोट पड़ा होगा तब यह आंकड़ा 400 को छू सकता है ऐसा अनुमान लगाना भी तर्क संगत होगा।

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES