Sunday, March 3, 2024
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड की धरती से जम्मू-कश्मीर की बात! कार्यकर्ताओं व संगठन में जोश...

उत्तराखंड की धरती से जम्मू-कश्मीर की बात! कार्यकर्ताओं व संगठन में जोश भर गए नड्डा!

(मनोज इष्टवाल)

उम्मीद बलबती थी कि भाजपा के केन्द्रीय कार्यकारी अध्यक्ष उत्तराखंड की राजधानी देहरादून आकर कुछ नया रहस्योद्घाटन करेंगे लेकिन एक चतुर राजनीतिज्ञ की भांति वह भी वही करके गए जो आम तौर पर पार्टी के आम कार्यकर्ता को संजीवनी देने का गुरुमंत्र होता है! इस गुरुमन्त्र से संगठन व कार्यकर्ता कितने खुश हुए हैं यह तो आने वाला वक्त बताएगा लेकिन इतना तो साफ़ है कि जेपी नड्डा उस नब्ज को पकड़ने में कामयाब रहे जो डेंगू फैलने के इलाज से पूर्व प्राथमिक उपचार के रूप में दिया जाना चाहिए! जहाँ जेपी नड्डा त्रिवेंद्र सरकार की पीठ थपथपा गए वहीँ उत्तराखंड की धरती से वह जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने से लेकर वर्तमान तक की धुंधली तस्वीर की भी धूल साफ़ कर गए! उन्होंने खुलकर जम्मू-कश्मीर की राजनीति व सामाजिक संरचना पर बात रखी!

जेपी नड्डा ने अपने भाषण की शुरुआत ही उत्तराखंड के नर-नारी को देवतुल्य मानकर व बनाकर करते हुए कहा कि हम पहाडवासियों की दिनचर्या व जीवन शैली देवतुल्य है! जहाँ उन्होंने आज उत्तराखंड के पांच जिलों में भाजपा कार्यालयों का उद्घाटन/लोकार्पण किया वहीँ दूसरी ओर अपनी छात्र राजनीति से लेकर वर्तमान राजनीति तक प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को जोड़कर जो सामंजस्य कायम किया वह साफ़ सीधे लहजे में कहा जाय तो आम कार्यकर्ता तक यह सन्देश पहुंचाने की कवायद थी कि वे पार्टी अनुशासन का ध्यान रखें व उन हवाओं को हवा ही रहने दें जो यहाँ अक्सर सत्ता परिवर्तन से जुडी बातें छनकर आती रहती हैं!

उन्होंने साफ़ सीधे शब्दों में कहा कि भाजपा न किसी एक की चमड़ी या दमड़ी से चलने वाली पार्टी है न परिवारवादी! यह देश की पहली ऐसी राजनीतिक पार्टी है जो प्रजातंत्र व कार्यकर्ताओं के बलबूते व अपनी कार्यशैली से चलती है!

जेपी नड्डा ने कहा कि यूँ तो भाजपा विश्व भर में पहले ही सबसे बड़ी पार्टी के रूप में जानी जाती है लेकिन पिछले 54 दिन में 6 करोड़ सदस्य जोड़कर वह अब 11 करोड़ से 17 करोड़ सदस्यों की पार्टी बन गयी है! भाजपा ने अपना ही रिकॉर्ड ध्वस्त कर उसे और अधिक सुधार दिया है! उन्होंने त्रिवेंद्र सरकार को इस बात की बधाई भी दी कि उन्होंने मात्र 54 दिन में 11 लाख सदस्य जोड़कर इस अभियान को गति दी है! पूरे देश में कितनी पार्टियां है इसका आंकडा प्रस्तुत करते हुए जेपी नड्डा ने बताया है कि पूरे भारतबर्ष में 2300 राजनीतिक पार्टियां हैं जिनमें 7 को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा व 49 को प्रादेशिक पार्टियों का दर्जा प्राप्त है! उन्होंने स्पष्ट किया कि कांग्रेस के मिथक को छोड़ दिया जाय तो बाकी सभी पार्टियां परिवारवाद व वंशवाद से ओत-प्रोत रही हैं! अकेली भाजपा ऐसी पार्टी है जो प्रजातांत्रिक तरीके से चलती आ रही है व जिसके हर तीसरे साल मंडल अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक चुनाव होते हैं! उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने देश में 17 हजार से अधिक स्थानों पर वृक्षारोपण किया है जिनमें एक लाख से ज्यादा फलदार वृक्षों का रोपण हुआ है!

भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि यह प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की ही नेतृत्व क्षमता है कि उन्होंने धारा 370, ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दे पर होने वाली राजनीति का नासूर जड़ से ही मिटा दिया! लोकसभा में 200 विधेयक पेश कर जहाँ इतिहास रचा वहीँ 40 विधयेक पास करवाकर जता दिया कि वे सिर्फ बातें नहीं बनाते बल्कि काम भी करते हैं! यह आश्चर्यजनक रहा कि जिस उत्तर प्रदेश में विगत लोकसभा की 80 सीटों पर उनके प्रभारी रहते हुए उन्होंने 62 सीटें दिलवाई व सपा, बसपा, कांग्रेस को लगभग क्लीन स्वीप ही करवा दिया, उस के राममंदिर पर वे एक शब्द भी नहीं बोले, जबकि यह भी एक सदी से दूसरी और दूसरी से अब तीसरी सदी का मुद्दा था!

जेपी नड्डा ने पार्टी के वर्तमान स्वरुप पर चर्चा करते हुए बताया कि उनके दल में वर्तमान में 303 लोकसभा सांसद, 82 राज्यसभा सांसद व 400 सहयोगी शामिल हैं जबकि 1491 विधायक व 15 राज्यों में उनकी सरकार है! उनकी पार्टी में इनकमिंग सुविधा तो है लेकिन आउटगोइंग सुविधा नहीं है! उन्होंने जोर देकर कहा कि भाजपा पार्टी का मतलब देश व मानवता की सेवा करना है!

जेपी नड्डा ने अपने मुख्य भाषण को जम्मू कश्मीर की राजनीति पर फोकस करते हुए वहां से धारा 370 के हटाये जाने के बाद से लेकर वर्तमान तक की हर घटनाक्रम पर चर्चा करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर की धरती पर देश के बकरवाल व गूजर देशभक्त ईमानदार मुस्लिम हैं जो भारतीय फ़ौज के साथ मिलकर देश के दुश्मनों का डटकर मुकाबला करते हैं! सिर्फ तीन परिवार हैं जिन्होंने जम्मू कश्मीर का कभी भला नहीं होने दिया और वे ही इसका विरोध कर रहे हैं क्योंकि उनकी राजनीति की दुकानें बंद जो हो गयी हैं! अब यहाँ से गूर्जर, बकरवाल व जनजातीय हर वर्ग का व्यक्ति विधायक का चुनाव लड़ सकता है! अब तक उमर अब्दुला व मुक्ति मोहम्मद सईद यहाँ 13वीं सदी का क़ानून चलाते आ रहे थे, क्योंकि यहाँ का यही जनमानस यहाँ वोट तो दे सकता था लेकिन एक काउंसलर का चुनाव तक लड़ने का अधिकारी नहीं था! यहाँ महिलाओं पर हर तरह का अत्याचार होता था लेकिन उसके लिए कोई क़ानून नहीं था!

उन्होंने बताया कि आज वर्तमान स्थिति में जम्मू-कश्मीर में दिनचर्या बेहद शानदार चल रही है! जिसे आतंक की धरती कहा जाने लगा था आज उसकी वादियाँअमन व शान्ति का पैगाम दे रही हैं! हाल ही में जम्मू-कश्मीर में 310ब्लाकों में चुनाव हुए हैं जिसमें 26 हजार से अधिक पंचों , सरपंचों ने प्रतिभाग किया! आजादी के बाद यह पहला अवसर है जब यहाँ बीडीसी के चुनाव हुए हैं, जिसमें सोफिया में 85 प्रतिशत, कुपवाड़ा में 86 प्रतिशत व श्रीनगर में 100 प्रतिशत मतदान हुआ है! एक सीट पर तो 101 प्रत्याक्षियों ने चुनाव लड़ा है!

उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि बीडीसी चुनाव में भाजपा को 81 सीट मिली हैं जबकि कांग्रेस सिर्फ एक सीट जीत पायी, 8 जेके पैंथर पार्टी व 217 सीटें निर्दलीय जीते हैं! उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि मीडिया यह सब नहीं दिखायेगी जबकि उन्हें यह दिखाना चाहिए!

ट्रिपल तलाक पर उन्होंने कहा कि हमने सती प्रथा, बाल विवाह जैसी कुत्सित प्रथाएं अपने समाज से हटाई हैं! महिलाओं को समानता का अधिकार देते हुए पैत्रिक सम्पति में बराबरी का हिस्सेदार बनाया है, फिर यह जरुर था कि हम देश की उन मुस्लिम महिलाओं के लिए भी न्याय करें जो ट्रिपल तलाक की जद में हैं! देश के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने ट्रिपल तलाक पर अभूतपूर्व फैसला लेते हुए अपने इरादे साफ़ कर दिए कि वे जो बोलते हैं उन्हें अक्षरत: पूरा करके भी छोड़ते हैं! उन्होंने साफ़ किया कि जब पाकिस्तान, बंगलादेश, अफगानिस्तान, टर्की, इजिप्ट, ईरान, सीरिया, मलेशिया जैसे देशों से ट्रिपल तलाक हट गया जो मुस्लिम देश हैं तो फिर भारत बर्ष जैसे लोकतांत्रिक हिन्दू राष्ट्र से क्यों नहीं! उन्होंने कहा कि भारत बर्ष ही एकमात्र ऐसा देश है जहाँ पश्चिमी पाकिस्तान से आकर यहाँ बसे इंद्र कुमार गुजराल, डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमन्त्री व लालकृष्ण आडवाणी उप प्रधानमन्त्री बनते हैं!

अपने पूरे भाषण के अंत में उन्होंने यह जरुर कहा कि उत्तराखंड के 17 लाख लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आयुष्मान योजना का लाभ उठा रहे हैं! उन्होंने कहा कि मोदी ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्हे मिलने अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प सभी प्रोटोकॉल तोड़कर पहुँच जाते हैं व मोदी उनका हाथ पकड़कर पूरे स्टेडियम का चक्कर लगवा देते हैं! मोदी अमेरिका व चीन तथा साउदी अरब व ईरान के साथ खुलकर दोस्ती निभाते हैं जबकि सभी जानते हैं कि इन चारों देशों के आपसी सम्बन्ध कैसे हैं!

जेपी नड्डा के सारे भाषण का अगर निचोड़ देखा जाय तो यह सच है कि वे यहाँ प्रदेश के आम आदमी के लिए नहीं बल्कि पार्टी संगठन व कार्यकर्ताओं के लिए आये थे क्योंकि प्रदेश सम्बन्धी उनके भाषण में कोई भी ऐसी योजना न दिखाई दी व न सुनाई दी जो प्रदेशवासियों को लाभान्वित कर सके! सिर्फ पांच जिलों के भाजपा कार्यालयों का शिलान्यास/उद्घाटन व उन्हें किस तरह व्यवस्थित करना है वही मात्र उनके भाषण में प्रदेश के लिए कुछ सुनने को था! जिसका सीधा सा मकसद यह साफतौर पर था कि उत्तराखंड आना उनका सिर्फ यहाँ के भाजपा के ढाँचे को ऊर्जा देने जैसा था न कि उसमें मंत्रीमंडल विस्तार व अन्य चुनावी प्रक्रिया सम्बन्धी कोई मकसद! शायद यह बात भाजपा के सांसद, प्रदेश काबीना मंत्री व विधायक इत्यादि सभी जानते थे तभी देहरादून में उनकी आमद नहीं दिखाई दी!

Himalayan Discover
Himalayan Discoverhttps://himalayandiscover.com
35 बर्षों से पत्रकारिता के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक, धार्मिक, पर्यटन, धर्म-संस्कृति सहित तमाम उन मुद्दों को बेबाकी से उठाना जो विश्व भर में लोक समाज, लोक संस्कृति व आम जनमानस के लिए लाभप्रद हो व हर उस सकारात्मक पहलु की बात करना जो सर्व जन सुखाय: सर्व जन हिताय हो.
RELATED ARTICLES
Ad